Hindi Grammar समास (samas) Explanation with 100+ examples (उदाहरण )

समास (Samas)

  • समास (Samas) किसे कहते है ?
  • समास = सम् (पास) + आस (रखना,बैठाना)
  • जब दो या दो से अधिक शब्दों के मेल से एक नया संक्षिप्त शब्द बनाया जाता है तो उस प्रक्रिया को ‘समास’ कहते है। समासयुक्त पद को ‘समस्त पद’ कहते है। उसमे पहले पद को पूर्वपद और दूसरे पद को उत्तरपद कहते है।
  • उदाहरण : राष्ट्रपिता (समस्तपद) = राष्ट्र (पूर्वपद) + (का) पिता (उत्तरपद)
  • समास के 4 प्रमुख भेद है –
  • बहुव्रीहि समास
  • द्वंद्व समास
  • अव्ययीभाव समास
  • तत्पुरुष समास
  • द्विगु समास
  • कर्मधारय समास

1) बहुव्रीहि समास : समस्त पद के दोनों पद (पूर्व पद और उत्तरपद) गौण होते है , ये दोनों मिलकर किसी तीसरे प्रधान (main) पद को संकेत करते है।
उदाहरण : दशानन – दश(ten) आनन(face) है जिसके , यानि की रावण । यहाँ “दश” और “आनन” दोनों मिलाकर तीसरे पद “रावण” की और संकेत करता है।

2) द्वंद्व समास : समस्तपद के दोनों पद (पूर्व पद और उत्तरपद) प्रधान होते है। विग्रह करने पर बीच में “और “, “एवं “,”तथा “,”या ” आदि जैसे शब्द लगाने पड़ते है। उदाहरण : दाल-भात – दाल और भात ।

3) अव्ययीभाव समास : समस्त पद में पहला पद (पूर्व पद ) अव्यय (जैसे की -यथा ,आ,बे,हर ,प्रति आदि ) होता है। (अविकारी शब्द जिनका स्वरूप किसी भी लिंग,वचन काल में प्रयोग करने पर नहीं बदलता है उसे अव्यय कहते है। ) उदाहरण : आजन्म – जन्म लेकर। यहाँ “आ” अव्यय है। जब एक ही शब्द का पुनरावर्तन (repetition) होता है , उसे भी अव्ययीभाव समास कहते है। उदाहरण : रातोंरात – रात ही रात में। यहाँ “रात ” का पुनरावर्तन हो रहा है।

4) तत्पुरुष समास : समस्त में कारक का लोप होता है। उस कारक के अनुसार उसके 8 भेद है –

  समस्त पद
विग्रह कारक  तत्पुरुष

समास

के भेद

जनप्रिय जन को प्रिय को (कर्मकारक ) कर्म

तत्पुरुष

आंखोदेखी आँखों से देखी से

(करण कारक )

करण

तत्पुरुष

पुण्यदान पुण्य के लिए दान के लिए (संप्रदान कारक) संप्रदान

तत्पुरुष

भयभीत भय से भीत से

(अपादान कारक)

अपादान

तत्पुरुष

समयानुसार समय के अनुसार के (संबंध कारक ) संबंध

तत्पुरुष

गृह-प्रवेश गृह में प्रवेश में (अधिकरण कारक) अधिकरण

तत्पुरुष

वायुयान वायु में चलनेवाला यान एक से अधिक विभक्तियाँ / पद मध्यम-

पदलोपी

तत्पुरुष

निडर न डर नकारात्मक भाव (negative)
पहला पद “अ “,”अन”,”निस “,”निर” आदि होता है।
नञ्

तत्पुरुष

i) द्विगु समास : समस्त पद का पहला पद संख्या या परिमाण दर्शाता है,उसे द्विगु समास कहते है। उदाहरण : त्रिलोक – त्रि (तीन) लोकों का समूह। यहाँ “त्रि (तीन ) ” संख्या दर्शाता है।

ii) कर्मधारय समास : पूर्वपद विशेषण (adjective) और उत्तरपद विशेष्य होता है। उदाहरण : महावीर – महान(विशेषण) है जो वीर(विशेष्य). यहाँ “महान ” शब्द “वीर ” का विशेषण है। कर्मधारय समास में एक पद उपमान और एक पद उपमेय भी हो सकता है। उदाहरण : प्राणप्रिय – प्राणों के समान प्रिय।

कर्मधारय तथा बहुव्रीहि में अंतर

  • कर्मधारय समास के समास विग्रह में पहला पद विशेषण का तथा दूसरा पद विशेष्य होता है। जैसे : महावीर – महान(विशेषण) है जो वीर(विशेष्य)।
  • बहुव्रीहि समास में दोनों पद (पूर्व पद और उत्तरपद) गौण होते है , ये दोनों मिलकर किसी तीसरे प्रधान (main) पद को संकेत करते है। जैसे : महावीर – महान वीर है जो (हनुमान)
  • समास विग्रह में अंतर होने के कारण कर्मधारय तथा बहुव्रीहि में अंतर हो जाता है।

बहुब्रीहि तथा द्विगु समास में अंतर

  • द्विगु समास में पहला पद दूसरे पद की विशेषता संख्या में बताता है। जैसे : त्रिवेणी – तीन वेणियों का समूह।
  • बहुव्रीहि समास में संख्यावाची पहला पद और दूसरा पद मिलकर किसी तीसरे पद के बारे में बताता है। जैसे : त्रिवेणी – तीन नदियों का संगम-स्थल है जो (प्रयागराज)
समास आसानी से कैसे याद रखे?
समास के प्रकार

याद रखने की तरकीब 

और

उदाहरण

बहुव्रीहि समास दोनों पद मिलाकर किसी आदमी,वस्तु आदि को संकेत करता हो

चक्रधर – चक्र को धारण करनेवाला
(चक्र और धर दो पद मिलाकर भगवान विष्णु को संकेत करता है )

द्वंद्व समास दो पदों के बीच और तथा या जैसे शब्द लगते हो

दालभात – दाल और भात

अव्ययी-भाव समास शब्द के आगे आ,यथा,प्रति,बे,हर जैसे अव्यय हो
या दोनों पद समान होआजन्म – प्रत्यय
रातोरात – रात ही रात में (दोनों पद रात है (समान है) )
तत्पुरुष समास दो पदों के बीच को,से,के लिए,के,में,का जैसे कारक लगते हो

घुड़सवार -घुड़(घोड़े) के ऊपर सवार (के ऊपर कारक है )

नञ् तत्पुरुष समास शब्द के आगे नकारात्मक भाव वाले अव्यय जैसे अ,अन,निस,निर लते हो

अनिच्छा – प्रत्यय

द्विगु समास पहला पद संख्या हो

नवरात्रि – पहला पद नव है जो एक संख्या है

कर्मधारय समास पहला पद विशेषण हो
या एक पद दूसरे पद के समान है ऐसा दर्शाता होमहाराजामहान(विशेषण) राजा
मृगनयन – मृग के समान नयन
मध्यम- पदलोपी समास दोनों पद जैसे के तैसे और बीच में कुछ शब्द लगने पर

रसोईघररसोई बनाने का घर

 

समास के उदाहरण :-

तत्पुरुष समास

समस्त पद विग्रह
जनप्रिय जन (people) को प्रिय (favourite)
स्वर्गीय स्वर्ग (heaven) को गया (went)
गिरहकट (जेबकतरा) गिरह (pocket) को काटनेवाला
यशप्राप्त यश (fame) को प्राप्त (gain)
ग्रामगत ग्राम (village) को गया हुआ
सर्वप्रिय सब (all) को प्रिय (favourite)
अतिथ्यर्पण अतिथि (guest) को अर्पण (present)
गृहागत घर (home) को आया हुआ (came)
परलोकगमन परलोक (paradise) को गमन (went)
मरणासन्न मरण (death) को पहुँचा हुआ
तुलसीकृत

(made or written by Poet Tulsidas)

तुलसी द्वारा कृत (बनाया हुआ )
आँखोदेखी

(seen with eyes)

आँखों से देखी
स्वरचित स्व (self) द्वारा (by) रचित (formed)
भुखमरा

(very hungry)

भूख से मरा
ईश्वरप्रदत्त

(given by god)

ईश्वर (god) द्वारा प्रदत्त (given)
मदांध मद(नशा) से अंधा (blind)
शोकाकुल

(गमगीन )

शोक (दुःख) से आकुल (बेचैन)
भयाकुल

(scared)

भय (fear) से आकुल (बेचैन)
मनगढ़न्त (मनगढ़ंत कहानी =fictional story) मन से गढ़ा (कल्पना करना) गया
रेखांकित रेखा (line) से अंकित (drawn)
अकालपीडित अकाल (famine) से पीड़ित (दुःखित)
गुणयुक्त गुण (quality) से युक्त (contain)
प्रेमातुर प्रेम से आतुर (बेताब)
वाग्दत्ता (fiancee) वाणी (वचन) द्वारा दत्त (दिया हुआ)
हस्ताक्षरित

(sign)

हस्त (hand) द्वारा अक्षरित (written)
श्रमसाध्य श्रम (परिश्रम) से साध्य (gain)
मदमस्त (drunken, शराबी ) मद (नशा) से मस्त (overjoyed)
गुरुदत्त गुरु (teacher) द्वारा दत्त (given)
पुण्यदान पुण्य के लिए दान (donation)
युद्धाभ्यास युद्ध (war) के लिए अभ्यास (training)
परीक्षा-केंद्र

(exam center)

परीक्षा के लिए केन्द्र
हथकड़ी (handcuff) हाथ के लिए कड़ी
सत्याग्रह सत्य (truth) के लिए आग्रह (ज़िद)
क्रीड़ांगन (playground) क्रीड़ा (game) के लिए आंगन (मैदान)
अभ्यासकेन्द्र (study center) अभ्यास (study) के लिए केंद्र (center)
व्यायामशाला व्यायाम (exercise) के लिए शाला (school)
गौशाला गौ (cows) के लिए शाला
मार्गव्यय मार्ग (रास्ता) के लिए व्यय (खर्च)
रसोईघर

(kitchen)
रसोई (cooking) के लिए घर (room)
राहखर्च राह (way) के लिए खर्च (expenditure)
डाकगाड़ी डाक (letter) के लिए गाड़ी (car)
प्रयोगशाला (laboratory) प्रयोग(experiment) के लिए शाला (school)
चिकित्सालय (hospital) चिकित्सा (इलाज) के लिए आलय (place)
प्रतीक्षालय प्रतीक्षा (wait) के लिए आलय (place)
विद्यालय विद्या (knowledge) के लिए आलय (place)
गुरुदक्षिणा

(विद्या के बदले गुरु को किया गया दान )

गुरु (teacher) के लिए दक्षिणा (donation )
देशभक्ति (patriotism) देश (country) के लिए भक्ति (प्रेम )
छात्रावास

(hostel)

छात्रों (students) के लिए आवास (रहने की जगह )
हवनसामग्री हवन (praying god in-front of fire) के लिए सामग्री (things)
पितृदान पितृ (व्यक्ति के पिता, माता, दादा, दादी आदि ) के लिए दान (donation)
तपोवन तप (तपस्या ) के लिए वन (forest)
उपासनाभूमि उपासना (worship) के लिए भूमि(place)
देवबलि देव (god) के लिए बलि (भोग,offering )
बलिपशु बलि (भोग,offering ) के लिए पशु (animal)
आरामकुर्सी आराम (rest) के लिए कुर्सी (chair)
यज्ञशाला यज्ञ के लिए शाला
भयभीत

(scared)

भय से भीत
पथभ्रष्ट (misguided) पथ से भ्रष्ट
जातिच्युत जाति (caste) से च्युत
देशनिकाला देश (country) से निकाला (deport)
धर्मभ्रष्ट (अधार्मिक) धर्म से भ्रष्ट
गुणहीन गुण (quality) से हीन (without)
पदमुक्त

(free of charge / duty)

पद से मुक्त
पापोद्धार पाप से उद्धार (मुक्ति )
पापमुक्त पाप से मुक्त (free)
अपराधमुक्त अपराध (crime) से मुक्त (free)
जन्मांध जन्म (birth) से अंधा (blind)
ऋणमुक्त ऋण (उधार,कर्ज) से मुक्त (free)
धर्मविमुख धर्म (religion) से विमुख (विरुद्ध )
लक्ष्यभ्रष्ट (aimless) लक्ष्य से भ्रष्ट
आशातीत आशा से अतीत
कर्तव्य-विमुख कर्तव्य (फर्ज) से विमुख (विरुद्ध )
जाति-भ्रष्ट (casteist) जाति से भ्रष्ट
आवरणहीन आवरण (layer,cover) से हीन (without)
बंधनमुक्त बंधन (restriction) से मुक्त (free)
अभियोगमुक्त अभियोग (भार,आरोप,कलंक) से मुक्त (free)
समयानुसार समय (time) के अनुसार (according)
अवसरानुकूल अवसर (प्रसंग) के अनुकूल (योग्य)
क्षमादान क्षमा (माफ़ी) का दान (donation)
विद्यारम्भ विद्या (knowledge) का आरंभ (begin)
प्रसंगानुकूल प्रसंग के अनुकूल (योग्य)
पुस्तकालय (library) पुस्तकों (books) का आलय (place)
जीवनसाथी

(life partner)
जीवन का साथी
जीवनदान (sacrification of life) जीवन का दान
देवालय

(temple)

देव (god) का आलय (place)
मंत्रालय मंत्री (minister) का आलय (place)
रक्षासदन रक्षा (protection) का सदन (house)
मित्रभय मित्र (friend) का भय (fear)
प्राणहानि प्राण (life) की हानि (नुकसान)
वित्तहानि वित्त (finance) की हानि (नुकसान)
मताधिकार

(right to vote)

मत (vote) का अधिकार (right)
लखपति (millionaire) लाखो (lakhs) का पति (owner)
भाग्य-विधाता भाग्य (luck) का विधाता (creator)
जलापूर्ति (पानी की कमी ) जल (water) की आपूर्ति (lack)
सीमारेखा सीमा (boundary) की रेखा (line)
लोक-कल्याण लोक (people) का कल्याण (भलाई)
लोकहित लोक (people) का हित (भलाई)
विद्यादान विद्या (knowledge) का दान (donation)
राजनीतिज्ञ (politician) राजनीति (politics) का विज्ञ (clever)
पूंजीपति पूँजी (धन, money ) का पति (owner)
भारतरत्न भारत (India) का रत्न
मृत्युदंड मृत्यु (death) का दंड (punishment)
भ्रातृस्नेह भ्रातृ (brother) का स्नेह (love)
प्रजापति प्रजा (people) का पति (head)
लोकसभा लोक (people) की सभा (बैठक )
जनसंगठन जन (people) का संगठन (organization)
मातृभक्ति मातृ (mother) की भक्ति (faith, trust)
राष्ट्रपतिभवन राष्ट्रपति (president) का भवन (house)
जनादेश जन (people) का आदेश (सूचना)
प्रजाभय प्रजा (people) का भय (fear)
मन्त्रीभवन मंत्री (minister) का भवन (house)
सेनानायक सेना (army) का नायक (head)
प्रजातंत्र प्रजा (people) का तंत्र (system)
आत्मसम्मान आत्म (self) का सम्मान (respect)
भाग्याधीन भाग्य (luck) के अधीन (dependent)
वितरण-विधि वितरण (distribution) की विधि (method)
आत्मकथा आत्म (self) की कथा (कहानी )
आत्मरक्षा आत्म (self) की रक्षा (defence)
आत्मबलिदान आत्म (self) का बलिदान (sacrifice)
स्वतंत्र स्व (self) का तंत्र (system)
स्वाधीन स्व (self) के अधीन (dependent)
आत्मनियंत्रण आत्म (self) का नियंत्रण (control)
स्वलेख (holograph) स्व (self) का लेख (writing)
कनकघट कनक का घट
गृहस्वामी गृह (house) का स्वामी (owner)
अमृतधारा अमृत की धारा
दिनचर्या

(routine)
दिन (day) की चर्या
राजसभा

(दरबार)

राजा (king) की सभा (meeting)
रामभक्ति राम (Lord Ram) की भक्ति (devotion )
पराश्रित पर (others) पर आश्रित (dependent)
पदारूढ़ पद (position) पर आरूढ़ (चढ़ा हुआ)
रथासीन रथ (chariot) पर आसीन (seated)
दीनदयाल दीन (poor) पर दया करनेवाला
पलाधारित पल पर आधारित (dependent)
रणोन्मत रण में उन्मत
मृत्युंजय मृत्यु (death) पर जय (win)
जलमग्न जल में मग्न
कर्तव्यनिष्ठा कर्तव्य (फर्ज) में निष्ठा (loyalty)
दानवीर दान में वीर
देशाटन देश में अटन
आत्मलीन आत्म (self) में लीन
आत्मविश्वास (self-confidence) आत्म (self) पर विश्वास (confidence)
भूमिगत भूमि में गत
गृह-प्रवेश गृह (house) में प्रवेश (entry)
भावमग्न भाव में मग्न
शरणागत शरण में आगत
समाधिस्थ समाधि में स्थित
पेटदर्द पेट में दर्द (pain)
कर्मावस्था कर्म में आस्था (believe)
भाषाधिकार भाषा (language) पर अधिकार
विद्याप्रवीण विद्या में प्रवीण (clever)
लोकप्रिय लोक में प्रिय
हवाईयात्रा हवा (air) में यात्रा (traveling)
पुरुषोत्तम पुरुषों (men) में उत्तम (best)
सर्वोपरि सर्व (all) में ऊपर (superior)
सर्वश्रेष्ठ सर्व (all) में श्रेष्ठ (best)
सिरदर्द (head-ach) सिर (head) में दर्द (pain)

मध्यमपदलोपी समास

वायुयान (aeroplane) वायु (air) में चलने वाला यान (vehicle)
जलयान (steamer) पानी (water) पर चलनेवाला यान (vehicle)
पर्णकुटी पर्ण (leaves) से बनी कुटी (hut)
वनपशु (wild animal) वन (forest) में रहनेवाले पशु (animal)
शस्त्रविद्या शस्त्र चलाने की विद्या
हथकरघा हाथ से चलानेवाला करघा
जलजंतु जल (water) में रहनेवाले जंतु (insect)
गोबरगणेश गोबर() से बना गणेश(god Ganesha)
अश्रुगैस

(tear gas)

अश्रु (tear) को लानेवाली गैस (gas)
मताधिकार मत (vote) देने का अधिकार (हक )
मरुभूमि मरु (sand) से युक्त (contain) भूमि (land)
डाकगाड़ी डाक (letters) जाने-ले जानेवाली गाड़ी
बैलगाड़ी

(bullock cart)

बैलों (bullock) द्वारा (by) खींचीजानेवाली गाड़ी (cart)
पारपथ

(crossing)

पार (पार करना = cross) ले जानेवाला पथ (way)
मालगाड़ी

(goods train)

माल (goods) ढोनेवाली गाड़ी
रेलगाड़ी

(train)

रेल (पटरी) पर चलनेवाली गाड़ी
मधुमक्खी (honeybee) मधु (honey) का संचय करनेवाली मक्खी (bee)
पनचक्की

(water-mill)

पानी से चलनेवाली चक्की

नञ् तत्पुरुष समास

असंभव (impossible) न (not) संभव (possible)
अमर

(जो कभी नहीं मरता )

न मर
अब्राह्मण न ब्राह्मण (brahmin)
अन्याय न न्याय (justice)
अनादि न आदि (etc)
असत्य

(झूठ)

न सत्य(truth)
अनिच्छा न इच्छा (wish)
अनाथ

(जिसके माता-पिता नहीं है)

न नाथ (मालिक)
अनादर न आदर (respect)
अयोग्य न योग्य (लायक )
नास्तिक

(जो भगवान में नहीं मानता )

न आस्तिक (believer)
अज्ञान न ज्ञान(knowledge)
नीरस न(no) रस (interest)
निडर न(no) डर (fear)
अनहोनी न होनी (to be, possible)
अनदेखी न देखी (seen)
अनर्थ न अर्थ (meaning)
अनंत

(infinite)

न(no) अंत (end)
अनश्वर

(जिसका नाश न हो सके )

न नश्वर (नाश होनेवाला )
अधीर

(impatient)

न धीर (patient)
अधर्म न धर्म (नीति ,न्याय)
अनचाही न चाही (wanted)
अजर न जर
अकर्मण्य न कर्मण्य
अस्थिर न स्थिर (stable)
असंभव न संभव (possible)
अनीति न नीति (पुण्य,धर्म,न्याय )
अजय

(जिसे जीता न जा सके )

न जय (win)

कर्मधारय समास

सुहास सुंदर है जो हँसी (smile)
सुविचार अच्छा है जो विचार (thought)
महावीर महान है जो वीर
सुलोचना सुंदर है जिसके लोचन (eye)
नवांकुर नव (new) है जो अंकुर (sprout)
महायुद्ध महान है जो युद्ध (war)
अधोमुख अधः (नीचे) की ओर है जिसका मुख
सूक्ष्माणु सूक्ष्म (micro) है जो अणु (particle)
महाविद्यालय महान है जो विद्यालय (school)
अंधकूप अंधा (blind) है जो कूप
अधपका आधा (half) है जो पका (ripe)
मृगलोचन मृग (deer) के समान लोचन (eye)
महात्मा महान है जो आत्मा (soul)
नीलगाय नीली है जो गाय (cow)
दुरात्मा बुरी है जो आत्मा (soul)
नीलकमल नीला है जो कमल (lotus)
नीलांबर नीला है जो अंबर (sky)
कापुरुष कायर है जो पुरुष (man)
नीलकंठ नीला है जो कंठ (neck)
नीलगगन नीला है जो गगन (sky)
प्राणप्रिय प्राणों के समान (equal) प्रिय (beloved)
स्त्रीरत्न स्त्री रूपी रत्न
देहलता देह रूपी लता
नरसिंह नर रूपी सिंह
भुजदंड

(लकड़ी जैसी लंबी बाँह)

दंड (लकड़ी) के समान भुजा (arm)
 प्रधानाध्यापक

(principal)
प्रधान (head) है जो अध्यापक (teacher)
ग्रंथरत्न ग्रंथ रूपी रत्न
नयनबाण नयन रूपी बाण
राजीवलोचन राजीव के समान (like) लोचन (eye)
सूर्यप्रभा सूर्य (sun) की प्रभा (रोशनी) के समान (like)
पाषाण-ह्रदय पाषाण (stone) के समान ह्रदय (heart)
पाणिपल्ल्व पत्ते (leaves) के समान (like) हाथ (hand)
कनकाभ कनक के समान (like) आभा
घनश्याम घन के समान (like) श्याम
कनकलता कनक के समान (like) लता
कमलनयन कमल (lotus) के समान (like) नयन (eye)
करकमल कमल (lotus) के समान (like) कर (hand)
कुसुमकोमल कुसुम (flower) सा कोमल (soft)
क्रोधाग्नि क्रोध (anger) रूपी अग्नि (fire)
चंद्रमुख चंद्र (moon) के समान (like) मुख (face)
चरणकमल कमल (lotus) के समान (like) चरण (leg)
मीनाक्षी मछली (fish) के समान (like) आँखोंवाली (eyes)
वज्रांग

(curved body like वज्र)

वज्र (weapon of LORD Indra) के समान (like) है अंग (body part)
हेमलता हेम (सोने) की लता (बेल) के समान
दंतमुक्ता मोती जैसे दाँत (teeth)
मधु-मादन मधु के समान मदन

द्विगु समास

शताब्दी शत (सौ- hundred) अब्दों (वर्षो) का समूह
त्रिलोक (पाताललोक ,भूलोक ,स्वर्गलोक ) त्रि (तीन) लोको (world) का समूह
चौगुनी चौ (four) गुनी (times)
त्रिकाल त्रि (three) काल (tense) का समूह (past tense, present tense, perfect tense)
पंचामृत पंच (five) अमृतो का समूह (water, fire, earth,)
नवरात्री

(Hindu festival)

नव (nine) रात्रियों (nights) का समूह
पंचनदी पाँच (five) नदियों (rivers) का समूह
त्रिफला तीन फलों का समूह
चतुष्कोण (quadrilateral) चार(four) कोण(corner) वाला
नवग्रह नव (nine) ग्रहों (planet) का समूह
अष्टाध्यायी आठ (eight) अध्यायों (chapters) का समूह
अष्टसिद्धि आठ (eight) सिद्धियों (सफलता ,उपलब्धि ) का समूह
चौमासा चार (four) मासों (month) का समूह
चवन्नी चार (four) आनो (25 paise) का समूह
सप्ताह

(week)

सात (seven) दिनों (days) का समूह
त्रिवेणी तीन (three) वेणियों (rivers) का समूह
चौराहा चार (four) राहों (road) का समूह
तिरंगा

(indian flag)

तीन (three) रंगों (colours) का समूह (orange, white, green)
द्विगु दो (two) गौओं का समूह
नवरत्न नौ (nine) रत्नों (gems) का समूह (group)
सप्तर्षि सप्त (सात) ऋषिओं का समूह

बहुव्रीहि समास

चक्रपाणि चक्र है हाथ में जिसके (कृष्ण)
चक्रधर चक्र धारण (hold) करनेवाला (कृष्ण )
चतुर्भुज चार हैं भुजाएँ (arm) जिसकी (विष्णु )
चतुर्मुख चार हैं मुख जिसके (ब्रह्मा )
दीर्घबाहु लम्बी(long) भुजाओं(arm) वाला (विष्णु )
निशाचर निशा (night) में विचरण (घूमना) करनेवाला (राक्षस )
नीलकंठ नीला है कंठ जिसका (शिव )
पीतांबर पीला (yellow) है अंबर(cloth) जिसका (श्रीकृष्ण )
त्रिलोचन तीन आँखों वाला (शिव )
अष्टभुजा आठ भुजा (arm) है जिसकी (दुर्गा )
दशानन दश आनन (face) हैं जिसके (रावण )
दशमुख दश मुख हैं जिसके (रावण )
कुसुमायुध कुसुम (flower) है आयुध (weapon) जिसका (कामदेव )
तपोधन तप ही है धन (wealth) जिसका
पतिव्रता पति (husband) ही है व्रत जिसका
अल्पबुद्धि अल्प (less)बुद्धि है जिसकी
उदारहृदय उदार (kind) है ह्रदय (heart) जिसका
नकटा नाक कटा है जिसका
बारहसिंगा बारह (12) सींगों (horns) है जिसके
दुधमुँहा मुँह में दूध है जिसके
महात्मा महान (great) है आत्मा (soul) जिसकी
लम्बोदर लम्बा (big) है उदर (पेट) जिसका (गणेश )
एकदंत एक (one) दंत (teeth) है जिसका (गणेश )
मोदकप्रिय मोदक (लड्डू) प्रिय (like) है जिसे (गणेश )
विणापाणि विणा है हाथ में जिसके (सरस्वती )
त्रिवेणी तीन नदियों का संगम-स्थल (प्रयागराज, इलाहबाद )

द्वंद्व समास

अपना-पराया अपना (ours) और पराया (others)
अमीर-गरीब अमीर (rich) और गरीब (poor)
गंगा-यमुना

(two rivers -Ganga, Yamuna)

गंगा और यमुना
दाल-रोटी दाल और रोटी
भूख-प्यास भूख और प्यास
स्त्री-पुरुष (woman- man) स्त्री और पुरुष
लव-कुश

(sons of lord Ram & Sita-Love,Kush)

लव और कुश
भाई-बहन (brother- sister) भाई और बहन
नर-नारी

(man- woman)

नर और नारी
यश-अपयश यश (fame ,प्रसिद्धि ) और अपयश (बदनामी )
स्वर्ग-नरक स्वर्ग (heaven) और नरक (hell)
मान-सम्मान मान और सम्मान
धर्म-अधर्म धर्म (पुण्य ,न्याय ) और अधर्म (पाप ,अन्याय )
यश-अपयश यश और अपयश
हानि-लाभ हानि (नुकसान) और लाभ (फायदा)
लोटा-डोरी लोटा और डोरी
उल्टा-सीधा उल्टा और सीधा
आटा-दाल आटा (flour) और दाल (daal)
रुपया-पैसा (rupees an paise) रुपया और पैसा
जन्म-मरण जन्म (birth) और मरण (death)
दिन-रात

(day and night)

दिन और रात
दूध-दही

(milk & curd)

दूध और दही
देश-विदेश देश (country) और विदेश (abroad)
कर्तव्याकर्तव्य कर्तव्य (फर्ज) और अकर्तव्य (फर्ज का विलोम (opposite) )
उन्नतावनत उन्नत (upgraded, प्रगति) और अवनत (downgraded, अधोगति )
आगे-पीछे

(forth-back)

आगे और पीछे
तन-मन-धन तन, मन और धन

अव्ययीभाव समास

आजन्म

(from birth)

जन्म से लेकर
यथाविधि विधि के अनुसार (according)
यथामति मति (बुद्धि) के अनुसार (according)
यथाशक्ति शक्ति (strength) के अनुसार (according)
प्रतिवर्ष

(every year)

प्रत्येक वर्ष
दिनोंदिन

(day-to-day)

दिन प्रति दिन में
आमरण

(मरते दम तक)

मरण तक
आसमुद्र समुद्र (ocean) तक
रातोंरात (overnight) रात ही रात में
यथोचित जो उचित (योग्य) हो
बीचोंबीच

(in middle)

बीच ही बीच में
यथासंभव जितना संभव (possible) हो सके
आजीवन

(whole life)

जीवन भर
बेकाम बिना (without) काम (work,job) के
प्रत्यक्ष (प्रति + अक्ष (eyes)) आँखों के सामने
यथानियम नियम (rules) के अनुसार (according)
यथाशीघ्र जितना शीघ्र (जल्दी) हो
यथासमय समय (time) के अनुसार (according)
भरपेट पेट भर के
बेखटके बिना (without) खटके (संकोच) के
हरघड़ी घड़ी-घड़ी
हाथोंहाथ हाथ ही हाथ में
आटा-दाल = द्वंद्व समास
प्रतिदिन = अव्ययीभाव समास
नीलगगन = कर्मधारय समास
राजा-प्रजा = द्वंद्व समास
तिरंगा = द्विगु समास
घुड़सवार = तत्पुरुष समास
प्रत्येक = अव्ययीभाव समास
महाराजा = कर्मधारय समास
तन-मन – द्वंद्व समास
नीलकंठ= बहुव्रीहि समास
राष्ट्रपतिभवन = मध्यमपदलोपी समास
एकाएक =अव्ययीभाव समास
नीलकमल = कर्मधारय समास
भला-बुरा = द्वंद्व समास
छात्र-छात्राएँ = द्वंद्व समास
आजन्म = अव्ययीभाव समास
चरण-कमल = कर्मधारय समास
राजा-रंक = द्वंद्व समास
चक्रधर = बहुव्रीहि समास
बारहसिंगा= बहुव्रीहि समास
रसोईघर = मध्यमपदलोपी समास
चाय-वाय = द्वंद्व समास
मुखचंद्र = कर्मधारय समास
आशा-निराशा = द्वंद्व समास
पृथ्वी-आकाश = द्वंद्व समास
निडर = नञ् तत्पुरुष समास
नयनमृग = कर्मधारय समास
भाई-बहन = द्वंद्व समास
महेश= बहुव्रीहि समास
नवग्रह = द्विगु समास
बीचोंबीच = अव्ययीभाव समास
मृगनयन = कर्मधारय समास
सुख-दुःख = द्वंद्व समास
विषधर= बहुव्रीहि समास
पंजाब = द्विगु समास
यथाविधि = अव्ययीभाव समास
पाप-पुण्य = द्वंद्व समास
लंबोदर = बहुव्रीहि समास
महाविद्यालय = कर्मधारय समास
राजमाता = तत्पुरुष समास
माता-पिता = द्वंद्व समास
दशानन= बहुव्रीहि समास
राधा-कृष्ण = द्वंद्व समास
चारपाई = द्विगु समास
नीलांबर = कर्मधारय समास
सेनानायक = तत्पुरुष समास
निडर = नञ् तत्पुरुष समास
नवरात्रि = द्विगु समास
राजपुत्र = तत्पुरुष समास
चाय-कोफ़ी = द्वंद्व समास
पंचतंत्र = द्विगु समास
नील-कमल = कर्मधारय समास
कोषाध्यक्ष = तत्पुरुष समास
प्रधानाध्यापक = कर्मधारय समास
शुभागमन = कर्मधारय समास
निर्दय = नञ् तत्पुरुष
नीलकंठ= बहुव्रीहि समास
गली-गली = द्वंद्व समास
शताब्दी = द्विगु समास
धनहीन = तत्पुरुष समास
लोभ-मोह = द्वंद्व समास
प्रतिपल = अव्ययीभाव समास
दोराहा = द्विगु समास
जन्मांध = तत्पुरुष समास
रात-दिन = द्वंद्व समास
चतुर्भुज= बहुव्रीहि समास
नवग्रह = द्विगु समास
राम-लक्ष्मण = द्वंद्व समास
त्रिलोचन= बहुव्रीहि समास
दोपहर = द्विगु समास
पंचवटी = द्विगु समास
चतुर्मुख= बहुव्रीहि समास
सप्ताह = द्विगु समास
देशरक्षा = तत्पुरुष समास
चवन्नी = द्विगु समास
यशप्राप्त = तत्पुरुष समास
शोकाकुल = तत्पुरुष समास
गुणयुक्त = तत्पुरुष समास
त्रिलोक = द्विगु समास
भारतरत्न = तत्पुरुष समास
स्वरचित = तत्पुरुष समास
नवरत्न = द्विगु समास
गंगातट = तत्पुरुष समास

 

One Comment on “Hindi Grammar समास (samas) Explanation with 100+ examples (उदाहरण )”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *